स्वप्नदर्शी समाजवादी कौन थे? संपूर्ण जानकारी |Examsly| Best Notes 1

स्वप्नदर्शी समाजवादी

स्वप्नदर्शी समाजवादी
स्वप्नदर्शी समाजवादी
  • कुछ आरंभिक समाजवादियों का विचार केवल सैद्धांतिक सपना था तथा उनके द्वारा वर्तमान के लिए कोई व्यवहारिक क्रियाविधि प्रस्तुत नहीं की गई इसलिए उन्हें स्वप्नदर्शी समाजवादी कहा जाता है |
  • मार्क्स ने वर्ग संघर्ष को एक ऐतिहासिक तत्व के रूप में स्थापित करके सर्वहारा को प्रेरणा दी अतः मार्क्स ने अपने समाजवाद को वैज्ञानिक समाजवाद कहा जबकि स्वप्नदर्शी समाजवादियों में सेंट साइमन, चार्ज फोरियर, रॉबर्ट ओवेंन लुई ब्ला आदि प्रमुख है |

क्लाउड हेनरी सेंट साइमन 1760 1825 AD

  • सेंट साइमन 19वीं शताब्दी के आरंभ का फ्रांसीसी समाजवादी दार्शनिक और सुधारक था | उसने द न्यू क्रिश्चियनिटी मे अपने समाजवादी विचारों का प्रतिपादन किया|
  • सेंट साइमन ने दो प्रमुख वर्गों की पहचान की जिसमें पहला उत्पादक या उद्योगपति एवं दूसरा परोपजीवी था | सेंट साइमन ने भावी समाज की कल्पना वर्गहीन समाज के रूप में नहीं की, बल्कि यह विचार रखा कि मध्यवर्ग, बुर्जुआ वर्ग, वैज्ञानिक और सर्वहारा समान रूप से उत्पादक वर्ग के सदस्य होंगे |
  • यह सभी सामंतवाद विरोधी संघर्ष में स्वाभाविक सहयोगी है तथा भावी औद्योगिक प्रणाली में बराबर लाभान्वित होंगे | सेंट साइमन ने श्रमिक हितों की सुरक्षा के लिए कार्य के अनुसार मजदूरी और क्षमता के अनुसार श्रम जैसे सिद्धांत का प्रतिपादन किया |
  • सेंट साइमन सामान्य श्रेष्ठ कलाकारों, वैज्ञानिकों, अभियंताओं और व्यापारियों को उनकी योग्यता के अनुसार पुरस्कार देने का समर्थन किया लेकिन उसने अपने आदर्श समाज के निर्माण के लिए कोई कार्य विधि नहीं बताई |
  • सेंट साइमन औद्योगिक वर्ग के लोगों को सर्वाधिक महत्वपूर्ण स्थान देना चाहता था | उसके अनुसार उद्योगपतियों को समाज का नियंत्रण संभाल लेना चाहिए | उसने एक ऐसे समाज की कल्पना की जो सभी प्रकार के दूसरों से मुक्त हो जिसमें सब लोग यथाशक्ति योगदान करें तथा अपनी सेहत का फल पाए |

चार्ल्स फोरियर 772-1833 AD

  • चार्ल्स फोरियर एक फ्रांसीसी समाजवादी, आलोचक और विचारक था | यह एक दूसरे का समाजवादी था | उसने पुस्तक द सोशल डेस्टिनी के अंतर्गत मानवता की मुक्ति के लिए अपनी योजना प्रस्तुत की |
  • उसने अपने सामाजिक विश्लेषण में न्यूटन के मैकेनिक्स के आधार पर आकर्षण की यंत्र व्यवस्था को प्रमुखता दी | उसने तर्क दिया कि आदर्श समाज व्यवस्था में सामंजस्य का साम्राज्य होगा तथा साहचर्य की भावना पूरे उत्कर्ष पर होगी |
  • उसने मनुष्य के साथ कार्य का विभाजन आकर्षक श्रम के सिद्धांत के अनुसार किया | अर्थात जो कार्य जिसे पसंद होगा, वही उसे सौंपा जाएगा | फोरियर औद्योगिक प्रसार के विरोध में था, क्योंकि उसका मानना था कि यह सामाजिकता वैयक्तिकता तथा सृजन के आनंद को बाधित करता है |
  • उसका मानना था कि मानव को ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने चाहिए या छोटे शहर के एक छोटे वर्कशॉप में काम करना चाहिए उसने सहकारी संस्थानों के गठन पर बल दिया |

रॉबर्ट ओवन 1771-1858AD

  • रॉबर्ट ओवन ब्रिटिश उद्योगपति, मानवप्रेमी और सहकारिता आंदोलन का अग्रदूत था | उसे आरंभिक समाजवादी माना जाता है तथा 1930 ईस्वी के आसपास सर्वप्रथम समाजवाद शब्द का प्रयोग करने का श्रेय दिया जाता है |
  • उसने अपने सिद्धांत द न्यू व्यू ऑफ सोसाइटी तथा द बुक ऑफ न्यू मॉडल वर्ल्ड में स्पष्ट किए हैं | रॉबर्ट ओवेंन जेरेमी बेंथम के साथ मिलकर अपनी मील में एक आदर्श समाजवादी यूटोपिया का निर्माण करने की कोशिश की |
  • उसने अपना सारा धन और जीवन आदर्श समाजवादी समुदाय के निर्माण में लगा दिया | ओवन का यह मानना था कि श्रमिकों को सुविधाएं देकर उत्पादन बढ़ाया जा सकता है |
  • श्रमिकों के लिए आवासीय सुविधाएं एवं काम के घंटे कम करके और अच्छी वैतनिक सुविधाएं प्रदान करके लाभ अर्जित करके यह सिद्ध कर दिया कि श्रमिकों को सामाजिक सुरक्षा और सुविधा देकर लाभ कमाया जा सकता है |
  • अमेरिका में ऐसे कई समाज स्थापित किए गए किंतु सारे समाजवादी मॉडल असफल रहे | किसी भी उद्योगपति ने ओवन का अनुसरण नहीं किया क्योंकि हजारों वर्षों से व्यक्तिगत मुनाफे में संलग्न मानव अभी दूसरे के लिए जीने और काम करने की स्थिति में नहीं था |

लुई ब्लां 1805-1881 AD

  • यह फ्रांस का प्रभावशाली विचारक एवं नेता था | अपनी पुस्तक ऑर्गेनाइजेशन ऑफ लेबर अपनी समाजवादी सिद्धांतों का प्रतिपादन किया |
  • उसने आर्थिक क्षेत्र में वयक्तिक स्वतंत्रता का विरोध किया तथा राज्य में मजदूरों के काम के अधिकार एवं उस अधिकार की प्राप्ति के लिए राष्ट्रीय कारखानों तथा बेरोजगारों की सहायता के लिए सामाजिक कार्य शालाओं की मांग की |
  • राज्य समाजवाद के उदय का श्रेय लुई ब्लां को दिया जाता है | उसके अनुसार प्रत्येक स्वस्थ मनुष्य को कार्य करने का अधिकार है तथा राज्य सरकार को उसे कार्य प्रदान करना चाहिए |
  • लुइ ब्लां इन विचारों से फ्रांस के सर्वहारा वर्ग में चेतना और जागृति पैदा हुई | फलतः 1848 ईस्वी में सम्राट लुई फिलिप के विरुद्ध सर्वहारा वर्ग ने क्रांति में सक्रिय भागीदारी की |

Read More…

Enlightenment-Meaning Full Knowledge

Modern Individualism

प्रबोधन(विश्व का इतिहास)-अर्थ, परिचय, प्रमुख विशेषताएं

Rashtrakutas

Complete Knowledge of Religious Reform Movement in Europe 16th Century

महमूद गजनबी 998-1030

पुनर्जागरण के लक्षण

What were the leading causes of the Renaissance, Meanings, signs, and Effects

Bardoli Satyagraha

भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में महात्मा गांधी का योगदान 

भारतीय राष्ट्रवाद के उदय के कारण 1857

पुनर्जागरण के लक्षण